अपने कार्यालय की शक्ति का किया दुरुपयोग-महाभियोग जांच की रिपोर्ट ने ट्रंप को बताया दोषी

0
11

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर अपने कार्यालय की शक्ति का दुरुपयोग करने का आरोप लगा है। डेमोक्रेटिक-नियंत्रित प्रतिनिधि सभा की एक प्रमुख कांग्रेस समिति ने राष्ट्रपति ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की सुनवाई के आधार पर एक रिपोर्ट में यह आरोप लगाया है। हालांकि व्हाइट हाउस ने इस रिपोर्ट को खारिज किया है।

रिपोर्ट के मुताबिक ट्रंप ने अपने व्‍यक्तिगत और राजनीतिक मक्सदों को पूरा करने के लिए ‘राष्ट्रहित’ से समझौता करने और अपनी शक्तियों का दुरुपयोग करते हुए 2020 राष्‍ट्रपति चुनाव में अपने पक्ष में विदेशी मदद मांगी। “मंगलवार को रिपोर्ट जारी करने के बाद तीन हाउस कमेटियों के अध्यक्षों ने कहा, “सबूत साफ हैं कि डोनाल्ड ट्रंप ने यूक्रेन को पूर्व उप-राष्ट्रपति जो बिडेन और उनेके बेटे से जुड़ी कंपनियों के खिलाफ अपने यहां जांच शुरू करने का ऐलान करने के प्रस्ताव दिए थे।”

रिपोर्ट के मुताबिक, इन प्रस्तावों में डोनाल्ड ट्रंप के दोबारा निर्वाचित होने के अभियान में इस सहायता के लिए यूक्रेन के राष्ट्रपति के साथ व्हाइट हाउस में एक बैठक करने और सैन्य मदद देने का वादा किया गया था। 25 जुलाई को डोनाल्ड ट्रंप और यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की के बीच फोन पर वार्ता होने की भी पुष्टि की गई है। इसकी पुष्टि ट्रंप के चीफ ऑफ स्टाफ द्वारा किए जाने का जिक्र भी रिपोर्ट में है।

ट्रंप के गलत कार्यों के साक्ष्य जबर्दस्त

इससे पहले सदन के खुफिया समिति के अध्यक्ष एडम शिफ ने कहा था कि तेजी से इस पर आगे बढ़ना महत्वपूर्ण है क्योंकि ट्रंप के गलत कार्यों के साक्ष्य जबर्दस्त हैं। शिफ ने एमएसएनबीसी से कहा कि हम महसूस करते हैं कि इसे त्वरित किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह ऐसे राष्ट्रपति हैं जिन्होंने अब तक अमेरिकी चुनावों में दो बार विदेशी दखल चाही और हमारे महाभियोग जांच के बीच में फिर से सार्वजनिक रूप से कह रहे हैं कि न केवल यूक्रेन को ऐसा करना चाहिए बल्कि चीन को भी मेरे विपक्षियों की जांच करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इसलिए यह आगामी चुनाव में ईमानदारी के लिए खतरा है और हमें नहीं लगता कि इसके लिए इंतजार करना चाहिए, खास तौर पर जब हमारे पास राष्ट्रपति के व्यवहार को लेकर जबर्दस्त साक्ष्य मौजूद हैं। ट्रंप ने लंदन में नाटो के शिखर सम्मेलन में एक बार फिर डेमोक्रेट पर आरोप लगाया कि वे महाभियोग को लेकर राजनीतिक खेल कर रहे हैं।

व्हाइट हाउस ने की आलोचना

वाइट हाउस ने इस रिपोर्ट की आलोचना करते हुए इसे ‘एकतरफा झूठी कार्रवाई’ करार दिया है। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव स्टेफनी ग्रिशम ने कहा, “डेमोक्रेट्स राष्ट्रपति ट्रम्प के खिलाफ कोई सबूत पेश करने में विफल रहे।” ग्रिशम ने कहा कि यह रिपोर्ट उनकी कुंठाओं से ज्यादा कुछ नहीं दर्शाती है।

ये है पूरा मामला

डोनाल्ड ट्रंप पर आरोप है कि उन्होंने 2020 के राष्ट्रपति चुनाव में संभावित प्रतिद्वंद्वी जो बिडेन समेत अपने घरेलू प्रतिद्वंद्वियों की छवि खराब करने के लिए यूक्रेन से गैरकानूनी तौर पर सहायता मांगी। हाउस ज्युडिशियरी कमेटी बुधवार को इस पर सुनवाई शुरू करेगी कि क्या जांच में शामिल किए गए सबूत ‘राजद्रोह, घूस या अन्य अपराधों और खराब आचरण’ के आधार पर संवैधानिक रूप से महाभियोग चलाने के मानकों को पूरा करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here