16 C
Kanpur,in
Tuesday, January 28, 2020

CAA को लेकर RJD का बिहार बंद, ट्रेनें रोकीं, कार्यकर्ताओं ने कपड़े उतारकर किया...

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर यूपी, गुजरात, दिल्‍ली, कर्नाटक, असम के बाद अब बिहार में भी विरोध प्रदर्शन का दौर तेज हो गया है।...

लता मंगेशकर वेंटिलेटर पर, सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र ने बालू पर आकृति उकेर, ईश्वर से...

इंटरनेट पर लता दी कि मौत की गलत अफवाहों के जबाब में सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र बनायीं कलाकृति, बोले अभी जिंदा हैं स्वर कोकिला लाता...

पहले कलाकार ने फुट फुट रोया, फिर रेत पर उकेर डाली, भूखें महान विभूति...

अनोखें अंदाज में सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र ने महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण को दी श्रंद्धाजलिसीतामढ़ी : बिहार के लाल और विश्व के महानतम गणितज्ञ वशिष्ठ...

बाल दिवस पर सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र ने नेहरू की आकृति उकेर पेड़ संरक्षण का...

राष्ट्रपति सम्मान, बिहार गौरव, आम्रपाली सम्मान, चम्पारण रत्न, सहित सैकड़ों सम्मान से हो चुके हैं सम्म्मनित।*डुमरा, सीतामढ़ी : बाल दिवस समारोह के अवसर पर...

*परिवारिक और आर्थिक परिस्थितियों ने मधुरेन्द्र को बनायीं कलाकार : रविश*

चिलचिलाती धूम हो या कपकपाती ठंडी, जब रेत पर चलती हैं मधुरेन्द्र की डंडी- रवीश कुमार*मोतिहारी, पूर्वी चंपारण : राष्ट्रीय अंतराष्ट्रीय स्तर पर अपनी...

*सामाजिक कुरीतियों को रेत पर उभारने में सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र बेताज बादशाह हैं- राजेन्द्र...

*नाबालिकों को संदेश देने के लिए सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र हुए सम्मानित।*हरसिद्धि, पूर्वी चंपारण: देश व विदेशों में अपनी बेहतरीन कला से समाज को संदेश...

मधुरेन्द्र ने छठ पर्व पर हिंदुस्तान की संस्कृति और जीवन बचाने का दिया संदेश

*मधुरेन्द्र ने छठ पर्व पर हिंदुस्तान की संस्कृति और जीवन बचाने का दिया संदेश**नाबालिग बच्चों को बाइक व बच्चीयों को सेलफोन इस्तेमाल नहीं करने...

चम्पारण के लाल सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र होंगे, “मगध रत्न यूथ आईकॉन अवार्ड” से पुरस्कृत

*चम्पारण के लाल सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र होंगे, "मगध रत्न यूथ आईकॉन अवार्ड" से पुरस्कृत**मगध में "युथ आईकॉन अवार्ड" से नवाजे जाएंगे मशहूर सैंड आर्टिस्ट...

सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र को मिला, वैश्विक शांति राजदूत पुरस्कार

वैश्विक शांति राजदूत पुरस्कार से नवाजे गये, सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र**ग्लोबल पीस अम्बेसडर अवार्ड से पुरस्कृत हुए सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र*मोतिहारी, पूर्वी चंपारण: गांधी की कर्मभूमि...

सौ साल पहले महात्मा गांधी ने बिहार में खोला था स्कूल, आज तक नहीं...

गांधी चंपारण पहुंचने के बाद सबसे पिछड़े गांव भितिहरवा गए थे और वहां उन्होंने सबसे अधिक जोर शिक्षा, स्वच्छता व स्वास्थ्य पर दिया था. महात्मा...