31 C
Kanpur,in
Wednesday, April 24, 2019

पर्यावरण को लेकर गंभीर नहीं पार्टियां, केवल सत्ता हासिल करने की होड़: जलपुरुष राजेंद्र...

राजनेताओं के चहेते राहतकोष, जलप्रबंधन व जलवायु प्रबंधन योजना के नाम पर अपनी जेब भरते रहेंगे. ‘नमामि गंगे’ जैसी भ्रष्टाचारी प्रदूषण नियंत्रण योजनाएं बनाते...

क्यों अलग धर्म की मांग कर रहे हैं आदिवासी?

आदिवासियों की मांग है कि उनके धर्म को मान्यता दी जानी चाहिए और धर्म के कॉलम में उन्हें ट्राइबल या अबॉरिजिनल रिलीजन चुनने का...

EXCLUSIVE :इंदिरा गाँधी को गेंदे के फूल से चिढ़ क्यों थी

भारतीय राजनीति में गेंदे के फूल का अपना महत्व है. कोई भी राजनीतिक आयोजन या स्वागत समारोह गेंदे के फूल के बिना अब भी...

भारत जैसे देश में सिर्फ़ संविधान की सीमाओं में रहकर ही हम आगे बढ़...

आज़ादी के इतिहास को देखने पर यह पता चलता है कि तत्कालीन नेताओं ने आज़ादी को प्राप्त करने हेतु अपने-अपने मार्गों पर चलने का...

राम मंदिर आंदोलन का चुनावी इतिहास बताता है कि चुनाव में राम भाजपा के...

इतिहास गवाह है कि मंदिर को लेकर माहौल बनाने से चुनावी वैतरणी पार नहीं होती. आगामी लोकसभा चुनाव से ऐन पहले जहां भारतीय जनता पार्टी और उसकी...

क्या उत्तर प्रदेश में कभी कांग्रेस के अच्छे दिन आएंगे?

लखनऊ के नज़दीक बाराबंकी लोकसभा चुनावी क्षेत्र में ग़रीब किसानों का समुराय नाम का एक गांव है. इस गांव की अर्थव्यवस्था गन्ने की खेती...

EXCLUSIVE:अंतरिम बजट का अ से ज्ञ

केंद्र सरकार ने आज अपने कार्यकाल का अंतरिम बजट पेश कर दिया. अरुण जेटली की अनुपस्थिति में एक बार फिर वित्त मंत्रालय का कामकाज...

पद्म भूषण से CBI के समन तक चंदा कोचर का मुश्किल सफ़र

"आसमानों की ख्वाहिश रखो लेकिन धीमे-धीमे चलते हुए. रास्ते पर चलने वाले हर एक कदम का मज़ा लो. ये छोटे-छोटे क़दम ही हमारे सफ़र...

संकटमोचन राजनाथ सिंह NDA के लिये क्यों जरूरी

साल 2014 में बीजेपी के तत्कालीन अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने 2014 के चुनावों से पहले एनडीए का पुनर्गठन करना शुरू किया था जो कि...

EXCLUSIVE REPORT: आर्थिक आधार पर आरक्षण? क्या पुनः सुप्रीम कोर्ट ऐसी किसी कोशिश को...

आर्थिक आधार पर आरक्षण देने पर बहसें पहले भी हुई हैं, और सुप्रीम कोर्ट ऐसी किसी कोशिश को असंवैधानिक करार दे चुकी है. लेकिन...