भारत 9 राष्ट्रों के साथ अपनी अंतरराष्ट्रीय सीमा साझा करता है, हमारे अधिकांश पड़ोसी देश ज़मीनी सीमा से जुड़े हुए है. कुछ राष्ट्रों के साथ हमारी सीमाएं प्राकृतिक रूप से बंटी हुई हैं.

भारत की कुल थल-सीमा की लंबाई 15,200 किलोमिटर है और इससे 6 देश लगे हुए हैं. तस्वीरों के माध्यम से हम अपने देश की सीमाओं को देखते हैं.

भारत-पाकिस्तान

Source: thequint.com
Source: twitter.com
Source: qz.com

भारत पाकिस्तान का बॉर्डर पाकिस्तान के 4 प्रांतों और भारत के राज्यों के बीच पड़ता है. इसकी शुरुआत कश्मीर के Line Of Control से पंजाब के वाघा तक होती है और राजस्थान और गुजरात के बीच पड़ने वाले बॉर्डर को Zero Point कहते हैं.

भारत-चीन

Source: zeenewsindia.com
Source: indiatoday.intoday.in
Source: knowledgeofindia.com

आधिकारिक रूप से McMahon Line भारत चीन को अलग करता है. जिस पर अंग्रेज़ों की सरकार ने तिब्बत के साथ 1914 में समझौता किया था लेकिन वर्तमान में चीनी सरकार इसे मानने से इंकार करती है.

भारत-म्यांमार

Source: hn.newsbharti.com
Source: eenaduindia.com

1600 किलोमीटर लंबा अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर, जो भारत के चार राज्यों से हो कर गुज़रता है. दोनों देशों के सरहदों के आस-पास आबादी रहती है, इस वजह से दोनों राष्ट्रों के बीच खींचातानी भी चलती होती है लेकिन कुल मिलाकर म्यांमार से भारत के अच्छे रिश्ते हैं.

भारत-नेपाल

Source: Twitter
Source: cnnenews.com

भारत के नेपाल के साथ कैसे रिश्ते हैं, इसका अंदाज़ा आप इस बात से लगा सकते हैं कि नेपाली भाषा को भारत में आधिकारिक दर्जा प्राप्त है और दोनों देशों के नागरिकों को एक-दूसरे के राष्ट्र में जाने के लिए वीज़ा की ज़रूरत नहीं पड़ती है.

भारत-भूटान

Source: en.paperblog.com
Source: reddit.com

भूटान हिमालय के गोद में बैठा एक छोटा सा देश है, भारत से इसकी 699 किलोमीटर सरहद लगती है. दुनिया में भूटान की पहचान एक शांत देश की ही. दोनों देश बीच सिर्फ़ एक एंट्री पॉइंट है, जो कि भारत की ओर पश्चिम बंगाल से गुज़रता है.

भारत-बांग्लादेश

Source: storiesofworld.com
Source: tripurachronicle.in

आज़ादी से पहले बांग्लादेश भारत का हिस्सा था, बाद में पाकिस्तान बना और 1971 में एक अलग राष्ट्र. दोनों राष्ट्रों के बीच दुनिया की पांचवी सबसे लंबी सरहद बनती है, इसकी कुल लंबाई 4,096 किलोमीटर है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here