गठबंधन के तहत कांग्रेस ने अपना दल को दो सीटें- गोंडा और बस्ती दी हैं.

नई दिल्ली: कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव के लिए उत्तर प्रदेश में अपना दल के साथ गठबंधन किया है और उसे दो सीटें दी हैं. अपना दल हालांकि फूलपुर की सीट की मांग भी कर रहा है.

केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल के अपना दल (एस) के भाजपा के साथ तालमेल को अंतिम रूप देने के एक दिन बाद उनकी मां कृष्णा पटेल की अगुवाई वाले अपना दल ने कांग्रेस से हाथ मिलाया है.

कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक कृष्णा पटेल ने शनिवार शाम पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी, महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा एवं ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाकात की जिसमें गठबंधन को अंतिम रूप दिया गया.

गठबंधन के तहत कांग्रेस ने अपना दल को दो सीटें- गोंडा और बस्ती दी हैं, हालांकि अपना दल फूलपुर सीट की भी मांग कर रहा है.

अपना दल के प्रवक्ता आरबी सिंह पटेल ने कहा, ‘गठबंधन तय हो चुका है. कांग्रेस ने हमें दो सीटें दी हैं, हालांकि हम फूलपुर की सीट की भी मांग कर रहे हैं क्योंकि यह क्षेत्र हमारी पार्टी के संस्थापक सोनेलाल पटेल की कर्मस्थली है.’

उन्होंने दावा किया कि कृष्णा पटेल वाला अपना दल ही सोनेलाल पटेल द्वारा गठित मूल पार्टी है और उसे पटेल एवं दूसरे पिछड़े वर्गों का समर्थन हासिल है.

इससे पहले शुक्रवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने एक ट्वीट कर कहा था, ‘फिर एक बार-मोदी सरकार के संकल्प के साथ ‘भाजपा-अपना दल’ गठबंधन उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव साथ-साथ लड़ेगा.

अपना दल प्रदेश की दो सीटों पर चुनाव लड़ेगा, जिसमें अनुप्रिया पटेल मिर्ज़ापुर से चुनाव लड़ेंगी और दूसरी सीट पर दोनों दलों के नेता बैठकर चर्चा करेंगे.

मालूम हो कि वर्ष 2014 में भाजपा के ही साथ मिलकर चुनाव लड़ने वाले अपना दल को मिर्ज़ापुर और प्रतापगढ़ लोकसभा सीटों पर जीत मिली थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here