रवींद्र जडेजा का पूरा परिवार हाल ही में सक्रिय राजनीति में आया है. उनकी पत्नी रिवाबा जडेजा ने बीते मार्च बीजेपी ज्वाइन की थी. रिवाबा के बाद अब रवींद्र जडेजा के पिता और बहन राजनीति में उतर गए हैं और उन्होंने बीजेपी के मुख्य विरोधी दल कांग्रेस का हाथ थाम लिया है. लेकिन रवींद्र जडेजा ने बीजेपी का समर्थन किया है.

वर्ल्ड कप टीम में चयन होने के कुछ घंटे बाद ही भारतीय क्रिकेट टीम के ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) के समर्थन का ऐलान किया है. लोकसभा चुनाव के बीच किए गए इस ट्वीट में जडेजा ने बीजेपी का सिंबल भी शेयर किया है. साथ ही उन्होंने अपने ट्वीट में नरेंद्र मोदी को टैग करने के साथ अपनी पत्नी का हैशटैग इस्तेमाल किया है.

रवींद्र जडेजा का पूरा परिवार हाल ही में सक्रिय राजनीति में आया है. उनकी पत्नी रिवाबा जडेजा ने बीते मार्च बीजेपी ज्वाइन की थी. रिवाबा के बाद अब रवींद्र जडेजा के पिता और बहन राजनीति में उतर गए हैं और उन्होंने बीजेपी के मुख्य विरोधी दल कांग्रेस का हाथ थाम लिया है.

jadeja-bjp_041619091028.pngरवींद्र जडेजा ने बीजेपी के समर्थन में किया ट्वीट

रवींद्र जडेजा के पिता अनिरुद्ध सिंह और नैना जडेजा ने बीते 14 अप्रैल को ही कांग्रेस ज्वाइन की है. दोनों ने जामनगर जिले के कालावाड़ में कांग्रेस की एक रैली के दौरान यह फैसला किया. जबकि पत्नी रिवाबा पहले ही बीजेपी में जा चुकी हैं. खबर ये भी था कि रिवाबा जडेजा ने जामनगर से चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर की है, लेकिन जब टिकट घोषणा हुई तो मौजूदा सांसद पूनम माडम ने बाजी मार ली. लेकिन जजेडा परिवार आपस में बंट गया. रवींद्र जडेजा की पत्नी बीजेपी के साथ चली गईं, जबकि पिता व बहन ने कांग्रेस का हाथ थाम लिया है. इस तरह रवींद्र जडेजा का परिवार बीजेपी और कांग्रेस दोनों के समर्थन में उतर गया.

लेकिन इंग्लैंड में इसी साल होने जा रहे वर्ल्ड कप के लिए 15 अप्रैल को जब 15 खिलाड़ियों की टीम में रवींद्र जडेजा के नाम की घोषणा हुई तो उसके महज तीन घंटे के अंदर ही जडेजा ने साफ कर दिया कि परिवार के दो धड़ो में वो किसके साथ हैं. उन्होंने सोमवार शाम बाकायदा ट्वीट कर भारतीय जनता पार्टी और नरेंद्र मोदी के साथ ही अपनी पत्नी के समर्थन का ऐलान कर दिया. कहा जा रहा है कि जडेजा परिवार में राजनीतिक मतभेद हो गया था, जिसके बाद रवींद्र जडेजा ने अपनी स्थिति स्पष्ट की है. हालांकि, जडेजा के इस कदम की सोशल मीडिया पर काफी आलोचना भी हो रही है.

बता दें कि गुजरात की सभी 26 लोकसभा सीटों पर तीसरे चरण के तहत 23 अप्रैल को मतदान होना है और उससे पहले रवींद्र जडेजा का यह ट्वीट नई बहस को जन्म दे सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here