31 C
Kanpur,in
Thursday, October 17, 2019

दिल्ली में 4-15 नवंबर तक ODD-EVEN, केजरीवाल के ऐलान पर बोले गड़करी ‘जरूरत ही नहीं है’

0
9
दिल्ली-एनसीआर में बढ़ते संभावित प्रदूषण के मद्देनजर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने 4 से 15 नवंबर तक एक बार फिर ऑड-ईवन फॉर्मूला लागू करने का ऐलान किया है।

नई दिल्ली-  देश की राजधानी दिल्ली में एक बार फिर Odd-Even की घोषणा हो गई है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके 4 से 15 नवंबर के बीच दिल्ली में यह फॉर्मूला लगाने की बात कही है। ज्ञात हो कि हर बार सर्दियों में दिल्ली प्रदूषण के चलते किसी गैस चैंबर जैसी हो जाती है। ऐसे में पहले भी दो बार लागू हो चुके Odd-Even फॉर्मूले को एक बार फिर आजमाया जा रहा है।

वहीं, सीएम केजरीवाल के इस ऐलान पर समाचार एजेंसी एएनआइ से बातचीत में प्रतिक्रिया में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Union Minister Nitin Gadkari) ने कहा- ‘मेरा मानना है कि इसकी जरूरत ही नहीं है। रिंग रोड के निर्माण से प्रदूषण कम हुआ है। इसके साथ जो योजनाएं केंद्र सरकार की ओर से चलाई गई हैं, उससे अगले दो वर्षों के दौरान दिल्ली प्रदूषण मुक्त हो जाएगा।’

बता दें कि दिल्ली सरकार ने राजधानी से प्रदूषण कम करने के लिए इतना बड़ा फैसला लिया गया है। आपकी गाड़ी किस दिन चलेगी और किस दिन आप अपने वाहन को सड़क पर नहीं ला सकते, उस बात को समझने के लिए आपको अपनी गाड़ी के रजिस्ट्रेशन नंबर का अंतिम अंक देखना होगा। अगर आपकी गाड़ी का अंतिम नंबर 0, 2, 4, 6, 8 तो आप 5, 7, 9, 11, 13, 15 तारीख को अपनी गाड़ी सड़क पर ला सकते हैं। अगर आपकी गाड़ी का अंतिम नंबर 1, 3, 5, 7, 9 है तो आप 4, 6, 8, 10, 12, 14 को गाड़ी लेकर सड़क पर आ सकते हैं।

शुक्रवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली सचिवालय में आयोजित प्रेसवार्ता में कहा, पिछले हफ्ते खुशखबरी दी थी कि प्रदूषण 25 फीसद कम हो गया है। मगर हमें चुप होकर नहीं बैठना है। आने वाले नवंबर में दूसरे राज्यों से पराली का धुआं दिल्ली के आसपास में भी छा जाता है। उस समय क्या-क्या किया जा सकता है। इस पर जनता से सुझाव मांगे थे। 1200 सुझाव आए हैं। इसे लेकर 7 प्वाइंट का एजेंडा तैयार किया गया है। 4 नवंबर से 15 नवंबर तक ऑड-ईवन लागू होगा।

सीएम केजरीवाल ने कहा, दिल्ली में दिवाली पर पटाखे नहीं छोड़ने के लिए प्रेरित किया जाएगा। छोटी दिवाली पर एक बड़ा लेज़र शो आयोजित होगा। लोगों को प्रदूषण से बचने के लिए मास्क बांटे जाएंगे। दिल्ली में 12 स्थानों पर प्रदूषण अधिक है। इनके लिए अलग से प्लान बनेगा। पेड़ लगाने के लिए लोगों को प्रेरित किया जाएगा।

दिल्ली में प्राइवेट बसों को प्रोत्साहित करने के लिए नीति लागू होगी। इससे बसों की संख्या बढ़ेगी। दिल्ली सरकार 10 माह के अंदर 4000 बसें स्वयं लेकर आएगी। इलेक्ट्रिक वाहन नीति जल्द लागू होगी।

चालान की राशि कम किए जाने के बारे में केजरीवाल ने कहा कि हम इस पर नज़र रखे हुए हैं। हम इस बारे में जरूर विचार करेंगे। मगर यह सच्चाई भी है कि यातायात के नियम में बदलाव करने से दिल्ली में यातायात व्यवस्था में सुधार हुआ है।

केजरीवाल के पत्रकार वार्ता की अहम बातें

  • 14 नवंबर तक ऑड-ईवन के नियम लागू होंगे।
  • दिल्ली में पर्यावरण मार्शल की नियुक्त होंगे।
  • अक्टूबर से दिल्ली वालों के बीच मास्क बांटे जाएंगे।
  • दिवाली से पहले लोगों को पटाखे कम छोड़ने के लिए प्रेरित किया जाएगा।
  • 7 प्वाइंट का एजेंडा तैयार किया गया है।
  • छोटी दिवाली पर एक बड़ा लेज़र शो आयोजित होगा।
  • दिल्ली में 12 स्थानों पर प्रदूषण अधिक, इसके लिए बनेगा प्लान।

महिलाओं और बाइकर्स की छूट पर अभी साधी चुप्पी
यहां पर बता दें कि ऑड-ईवन में महिलाओं और बाइकर्स को छूट को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट भी सवाल उठा चुका है। ऐसे में दोनों ही वर्गों को छूट को लेकर.

दिल्ली की सड़कों पर ऑड-ईवन की व्यवस्था फिर से लौटने वाली है। ‌दिवाली के तुरंत बाद दिल्ली में परिवहन की यह व्यवस्था लागू हो जाएगी। दिल्ली सरकार ने आगामी सर्दियों से पहले वायु प्रदूषण बढ़ने की संभावना को देखते हुए चार से 15 नवंबर के बीच ऑड-ईवन व्यवस्था दोबारा चालू करने की घोषणा की है। यह जानकारी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दी है।

वाहनों की संख्या घटेगी सड़कों पर
इस व्यवस्था के तहत वाहनों को सप्ताह के चुनिंदा दिनों में ही चलने की अनुमति दी जाएगी। इस तरह दिल्ली की सड़कों पर वाहनों की संख्या कम होने पर प्रदूषण कम होने की संभावना है। केजरीवाल ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि प्रदूषण रोकने के लिए 4 नवंबर से 15 नवंबर तक दिल्ली में ऑड-ईवन व्यवस्था लागू होगी।

दिल्ली सरकार का पराली-प्रदूषण एक्शन प्लान
केजरीवाल का कहना है कि नवंबर के आसपास पराली के धुएं से प्रदूषण बढ़ना शुरू होता है। ऐसे में इस वक्त ये कदम उठाकर दिल्ली में प्रदूषण कम किया जा सकता है। उन्होंने इसे पराली एक्शन प्लान नाम दिया है। इस एक्शन प्लान के तहत उन्होंने सात प्वाइंट सुझाए हैं। केजरीवाल का कहना है कि सात में से ऑड-ईवन और पटाखे वाला प्लान पराली का धुआं कम होने के बाद खत्म हो जाएंगे। लेकिन बाकी पांच प्लान को विंटर एक्शन प्लान में बदल दिया जाएगा।

प्रदूषण रोकने के लिए सात सूत्रीय एक्शन प्लान
1- प्रदूषण मुक्त दिवाली के लिए छोटी दिवाली को दिल्ली सरकार बड़ा लेजर शो आयोजित करेगी। फ्री एंट्री होगी। सरकार का मानना है कि इसके बाद लोग पटाखे नहीं जलाएंगे। दिल्ली वालों से अपील है कि पटाखे नहीं चलाएं।
2- 4 नवंबर से 15 नवंबर के बीच दिल्ली में ऑड-ईवन।
3- दिल्ली सरकार बड़े स्तर पर मास्क बांटेगी।
4. स्थानीय तौर पर कई बार कूड़ा जलाया जाता है, उस पर रोक लगाने के लिए काम किया जाएगा।
5- हॉट स्पॉट एक्शन प्लान के जरिए उन क्षेत्रों को चिन्हित करेंगे, जहां ज्यादा प्रदूषण होता है।
6- धूल आदि को नियंत्रित करने के लिए प्लान। दिल्ली नगर निगम के साथ मिलकर मैकेनिज्ड स्वीपिंग भी की जाएगी।
7. सरकार दिल्लीवालों को पौधे लगाने का चैलेंज भी देगी। इसके तहत जो भी चाहे अपने घर पर पौधे लगाए और उसकी देखभाल करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here