कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि बीजेपी का घोषणापत्र एक बंद कमरे में तैयार किया गया. यह अलग-थलग पड़ चुके आदमी की आवाज है. बीजेपी ने सोमवार को अपना घोषणापत्र जारी किया था.

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने घोषणापत्र को लेकर बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि कांग्रेस का घोषणापत्र लोगों की सलाह और उसपर चर्चा के बाद तैयार किया गया. जबकि बीजेपी ने बंद कमरे में घोषणापत्र (संकल्प पत्र) तैयार किया, जिसमें सिर्फ एक व्यक्ति की बात है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, राजनाथ सिंह, अरुण जेटली, सुषमा स्वराज की मौजूदगी में बीजेपी ने सोमवार को अपना घोषणापत्र जारी किया था.

राहुल गांधी ने कहा, ”कांग्रेस का घोषणापत्र चर्चा के बाद बनाया गया. यह लाखों सशक्त और बुद्धिमान भारतीयों की आवाज है. बीजेपी का घोषणापत्र एक बंद कमरे में तैयार किया गया. यह अलग-थलग पड़ चुके आदमी की आवाज है, जो अदूरदर्शी है और घमंडी हैं.’

बीजेपी ने संकल्प पत्र में देश के विभिन्न हिस्सों में चरणबद्ध तरीके से घुसपैठियों को निकालने के लिये एनआरसी लागू करने, जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा संबंधी अनुच्छेद 370, 35ए समाप्त करने और अयोध्या में राम मंदिर के शीघ्र निर्माण सहित कई वादे किये हैं.

बीजेपी ने जोर दिया है कि 2022 में जब आजादी के 75 साल होंगे तब आजादी की जंग लड़ने वाले महापुरूषों के सपनों का भारत बनाने के लिए पार्टी ने 75 लक्ष्य तय किये हैं. इनमें कृषि, युवा, शिक्षा, आधारभूत ढांचा, रेलवे, स्वास्थ्य, अर्थव्यवस्था, सुशासन, समावेशी विकास, महिला सशक्तिकरण और सांस्कृतिक धरोहर का विषय शामिल है.

पार्टी के ‘संकल्प पत्र’ में हाल ही में हुए सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक का जिक्र करते हुए आतंकवाद के खिलाफ ‘कतई बर्दाश्त नहीं करने’ की नीति दृढ़ता से जारी रखने पर जोर दिया गया है .

पार्टी ने संसद और राज्य विधानसभाओं में महिलाओं के लिये संविधान संशोधन के जरिये 33 प्रतिशत आरक्षण देने का भी अपने संकल्प पत्र में वादा किया . बीजेपी का संकल्प पत्र ‘‘संकल्पित भारत, सक्षम भारत’’ में तीन पन्ना किसानों को समर्पित है.

इसमें 2022 तक किसानों की आय को दुगना करने के कार्य को मिशन रूप में पूरा करने की प्रतिबद्धता व्यक्त की है. साथ ही 60 वर्ष आयु पूरा करने वाले छोटे एवं सीमांत किसानों के लिये पेंशन योजना का वादा किया. प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना’ का दायरा बढ़ाकर इसे देश के सभी किसानों के लिए लागू करने पर जोर दिया गया है .

बीजेपी के घोषणापत्र पर कांग्रेस का कहना है कि असल में तो इनको 5 साल के बाद हिसाब देना चाहिए था कि इन्होंने क्या-क्या किया? आज बेरोजगारी है, रोजगार का क्या हुआ? किसानों को जो वादे किए थे, उनका क्या हुआ? व्यापारियों को जो वादे किए थे, उनका क्या हुआ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here