गिरिडीह। झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन सोमवार को गठबंधन धर्म निभाने के लिए अविभाजित बिहार में कांग्र्रेस अध्यक्ष रह चुके सरफराज अहमद के आवास पर गए। पूर्व कैबिनेट मंत्री सुबोध कांत सहाय और झामुमो के केंद्रीय सचिव सुदिव्य कुमार सोनू भी उनके साथ थे। सरफराज ने हेमंत से वायदा किया कि कोडरमा में बाबूलाल मरांडी और गिरिडीह में जगरनाथ महतो की जीत के लिए कांग्रेस का एक एक समर्थक पूरी शिद्दत से अपनी भूमिका निभाएगा। हेमंत बोले कि एनडीए गठबंधन के लोगों को यकीन नहीं था कि यूपीए के सहयोगी दलों के बीच इतना बेहतर समन्वय होगा। उनकी नींद उड़ी है।

सरफराज अहमद के बोड़ो आवास पर हेमंत सोरेन का कारवां रुका तो हलचल मच गई। सरफराज से हेमंत बोले कि यूपीए महागठबंधन को लोकसभा चुनाव में ही इतनी मेहनत करनी होगी कि विधानसभा चुनाव के पहले एनडीए गठबंधन के लोग पस्त हो जाय। जहां भी जरुरत हो, कोडरमा एवं गिरिडीह के यूपीए उम्मीदवार के लिए जम कर प्रचार होना चाहिए। हेमंत सोरेन यह भी चाहते थे कि सभी जगहों पर यूपीए की बूथ कमेटी बनाई जाय ताकि भाजपा के लोग मतदान केंद्रों पर खेल नहीं कर सके। सरफराज का दावा था कि पूरे झारखंड में यूपीए के लिए लोगों का मिजाज बना हुआ है। सरफराज के साथ कांग्र्रेस जिलाध्यक्ष नरेश वर्मा, गिरिडीह लोकसभा प्रभारी सतीश केडिय़ा, सह प्रभारी नरेंद्र सिन्हा भी थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here