35 C
Kanpur,in
Thursday, May 23, 2019

यह सामाजिक परिवर्तन का महागठबंधन’-मीरजापुर में मायावती

11
0
पडऱी थानाक्षेत्र के अघवार में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव बसपा सुप्रीमो मायावती व रालोद के चौधरी अजीत सिंह चुनावी जनसभा को संबोधित करेंगे।

मीरजापुर-सातवें व अंतिम चरण के मतदान के लिए पूर्वांचल में चुनाव प्रचार का आज अंतिम दिन है। शुक्रवार को लोकसभा चुनाव के प्रचार के अंतिम दिन पार्टियों की ओर से दिग्‍गज नेताओं को चुनावी मैदान में उतारकर पूरी ताकत झोंक दी है। मीरजापुर में सपा-बसपा गठबंधन की ओर से पडऱी थानाक्षेत्र के अघवार में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, बसपा सुप्रीमो मायावती व रालोद के चौधरी अजीत सिंह चुनावी जनसभा को संबोधित करेंगे। यह कार्यक्रम दोपहर 12 बजे से आयोजित किया गया है।

बसपा सुप्रीमो ने कांग्रेस व भाजपा पर साधा निशाना

मीरजापुर में सपा बसपा गठबंधन के प्रत्याशी रामचरित्र निषाद और राबटर्सगंज से भाईलाल कोल के समर्थन में जनसभा को संबोधित करते हुए बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि- सपा बसपा व रालोद बठबंधन के प्रत्याशियों को मजबूत बनाएं। कांग्रेस देश की सत्ता में लंबे समय से रही है। देश और राज्यों में कांग्रेस की वजह से फिर केंद्र व राज्यों की सत्ता से दूर रहना पड़ा है। आजादी के बाद लंबे अरसे तक कांग्रेस बहुमत में रही है। मगर देश का सही दिशा में विकास नहीं हो सका। कानून का भी लाभ दलितों और पिछडों को नहीं मिल सका। डा. आंबेडकर ने कहा था सही मायनों में कानून का फायदा लेना है तो केंद्र में सत्ता की चाबी अपने हाथ में लेना होगा। इसके बाद बसपा का गठन हुआ और फिर सपा का गठन हुआ है। आज भाजपा जो कर रही है उसके लिए कांग्रेस जिम्मेदार है। भाजपा भी केंद्र में आरएसएस वादी सांप्रदायिक व पूंजीवादी पार्टी सत्ता से दूर चली जाएगी।

वर्तमान में पीएम मोदी ने पिछले लोकसभा चुनाव में गरीब, कमजोर व मध्यम वर्ग के लिए वादे किए उसका काम नहीं हो सका। बडे पूंजीपतियों व धन्ना सेठों को बचाने के लिए उनकी चौकीदारी करनी पड रही है। अब देश के किसान शुरु से समस्याओं को लेकर दुखी हैं। आवारा जानवरों ने इनको और परेशान किया है। भाजपा सरकार में भी जातिवादी व पूंजीपति सोच की वजह से गरीबों दलितों और आदिवासियों का कोई विकास नहीं हो सका है। पूरे देश में दलितों आदिवासियों व पिछडों का आरक्षण का कोटा अधूरा है। केंद्र व राज्यों में कांग्रेस भाजपा व विरोधी दल प्राइवेट सेक्टर में आरक्षण की व्यवस्था किए ही ठेका दिया जा रहा है। जिससे आरक्षण का लाभ नहीं मिल रहा है। इन वर्गों के साथ अल्पसंख्यक समाज की हालत दयनीय बनी हुई है जिसका खुलासा सच्चर कमेटी की रिपोर्ट में किया गया है।

हमने सोनभद्र को विकास कार्यों से जोडा, सडके स्कूल बनाए। रोजी रोटी की व्यवस्था की। अधिकतर नौकरियों में सोनभद्र और मीरजापुर में काफी काम किया है। गठबंधन काम में यकीन रखता है। भाजपा की तरह हवा हवाई काम नहीं करते। भाजपा के लोग सत्ता से जा रहे हैं तो यह लोगों को गुमराह कर रहे हैं। कुछ यही कांग्रेस भी कर रही है। लोगों को लुभाने के लिए छह हजार देने की बात कही है मगर गठबंधन सरकार आई तो यहां देश में गरीब परिवारों को स्थाई रोजगार दिया जाएगा। भाजपा के तरह कांग्रेस के भी बहकावे में नहीं आना है। आप लोगों को अपने प्रदेश और देश हित में गठबंधन को देना है। सर्वजन हिताय सर्वजनसुखाय की नीतियों पर काम करना है। अखिरी चरण में अखिलेश ने अपने गठबंधन के लिए पार्टी के लोगों को लगाया है। बसपा के लोगों से कहना है कि सपा के उम्मीदवारों को भी जिताना है। अपने लोगों से कहना है कि इस बार केंद्र में सरकार बनाएं तो अपने गठबंधन की एक एक सीट को जिताना है। यहां सपा नहीं बल्कि समझिए बसपा चुनाव लड रही है। इन दोनों सीटों को आपको जिताना है।

अब आखिरी चरण और बेहतर होगा, अब बीजेपी चिंतित है। इनके लटके चेहरे बता रहे हैं कि भाजपा और मोदी सरकार जा रही है। बीजेपी एंड कंपनी के बुरे दिन 23 मई से आ रहे हैं। इसके बाद योगी के भी मठ जाने की तैयारी शुरु हो जाएगी। इन्होंने गठबंधन को कमजोर करने के लिए भ्रम पैदा करने की कोशिश की है। इसमें इनको सफलता नहीं मिली है जिससे यह दुखी हैं। अब गठबंधन में फूट डालो राज करो की नीति नहीं चलेगी। यह लंबा चलने वाला सामाजिक परिवर्तन का महा गठबंधन है।

अखिलेश व माया की संयुक्त रैली के लिए अघवार में मंच-पंडाल बनाने का काम तेजी से चल रहा था और देर रात तक काम पूरा कर लिया गया। सपा जिलाध्यक्ष आशीष यादव ने बताया कि प्रत्याशी रामचरित्र निषाद के विशेष आग्रह पर अखिलेश यादव एक सप्ताह के भीतर दूसरी बार जनसभा करेंगे। जनसभा की सफलता के लिए दाेनों ही दलों की ओर से पार्टी कार्यकर्ताओं की भीड़ सुबह से ही जनसभा स्‍थल पर उमड़ने लगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here