सुप्रीम कोर्ट के सेवानिवृत न्यायाधीश जस्टिस पीसी घोष हो सकते हैं भारत के पहले लोकपाल

0
10

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के सेवानिवृत न्यायाधीश पीषी घोष भारत के पहले लोकपाल हो सकते हैैं। लोकपाल की चयन समिति ने लोकपाल अध्यक्ष और आठ सदस्यों के नाम फाइनल कर लिए हैैं। माना जा रहा है कि समिति ने लोकपाल अध्यक्ष के लिए जस्टिस पीसी घोष का चयन किया है। जल्दी ही औपचारिक घोषणा होने की उम्मीद है। अगले सप्ताह इस बावत अधिसूचना भी जारी हो सकती है।

प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यों की चयन समिति की बैठक शुक्रवार हुई थी जिसमें लोकपाल और उसके चार न्यायिक व चार गैर न्यायिक कुल आठ सदस्यों का चयन किया गया। सूत्र बताते हैैं कि चयन समिति ने लोकपाल और आठ सदस्यों का चयन कर लिया है। लोकपाल के अध्यक्ष के लिए सुप्रीम कोर्ट के सेवानिवृत न्यायाधीश जस्टिस पीसी घोष का नाम चयन समिति ने सर्वसम्मिति से फाइनल किया है। हालांकि बताते चलें कि प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली चयन समिति की बैठक में लोकसभा में कांग्र्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खडग़े ने भाग नहीं लिया था।

1952 में जन्में जस्टिस पीसी घोष (पिनाकी चंद्र घोष) जस्टिस शंभू चंद्र घोष के बेटे हैैं। 1997 में वे कलकत्ता हाईकोर्ट में जज बने। दिसंबर 2012 में वह आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश बने। 8 मार्च 2013 में वह सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश प्रोन्नत हुए और 27 मई 2017 को वह सुप्रीम कोर्ट न्यायाधीश पद से सेवानिवृत हुए। जस्टिस घोष ने अपने सुप्रीम कोर्ट कार्यकाल के दौरान कई अहम फैसले दिये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here