क्या मोदी और शाह केजरीवाल की हत्या कराना चाहते हैं?-थप्पड़ पर सिसोदिया का बड़ा वार

0
10

राजधानी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर फिर हमला हुआ. दिल्ली के सुल्तानपुरी में रोड शो के दौरान लाल टी-शर्ट पहने सुरेश नाम के एक शख्स ने सीएम केजरीवल को थप्पड़ मारा. इसके बाद सियासी गलियारों में आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया.

राजधानी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर फिर हमला हुआ. दिल्ली के सुल्तानपुरी में रोड शो के दौरान लाल टी-शर्ट पहने सुरेश नाम के एक शख्स ने सीएम केजरीवाल को थप्पड़ मारा. इसके बाद सियासी गलियारों में आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया. आम आम आदमी पार्टी के नेता सौरभ भारद्वाज ने कहा, ‘अब तक का जो आंकड़ा रहा है या जब-जब इस तरीके के हमले हुए, ज्यादातर ऐसे लोग भाजपा की विचारधारा और मोदी जी के प्रशंसक रहे हैं, हालांकि अभी तक हमारे पास कोई जानकारी नहीं है. साथ ही उन्होंने कहा कि भाजपा के लोगों के अंदर बहुत ज्यादा नफरत है.’

मनीष सिसोदिया ने ट्वीट करते हुए लिखा- क्या मोदी और अमित शाह अब केजरीवाल की हत्या करवाना चाहते हैं? इसके अलावा AAP सांसद संजय सिंह ने ट्वीट करते हुए मोदी सरकार पर आरोप लगाया है.

दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा, ‘भारतीय जनता पार्टी घटना की बहुत निंदा करती है, हम कभी भी हिंसा में विश्वास नहीं रखते और इस तरह की कोई भी कार्रवाई किसी तरह से किया गया हो उसकी हम निंदा करते हैं. आगे उन्होंने कहा कि हमें ये भी देखने को मिला है कि आम आदमी पार्टी ने अपने कैम्पेन और अपने होर्डिंग्स को बदल दिए और अब वो पूर्ण राज्य से हटकर वहीं पुराना राग अलाप रहे हैं कि हमको काम नहीं करने दे रहे हैं. उनका प्रचार कैम्पेन बदला है, इसलिए मुझे शक है कि ये थप्पड़ मरवाना भी कहीं उनका खुद का स्क्रिप्ट तो नहीं, क्योंकि जब भी चुनाव आता है इनको थप्पड़ मारने वाले पता नहीं कहां से आ जाते हैं. हालांकि, हम ऐसी घटनाओं का समर्थन नहीं करते फिर भी हमें शक है.’

वहीं, AAP नेता आतिशी ने ट्वीट किया, आज केजरीवाल पर हमला इस बात का संकेत है कि भाजपा रुक सकती है! उन्होंने 2015 के दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले भी यही किया था और साल 2015 में आम आदमी पार्टी ने 70 में 67 सीटें जीती थी और फिर बीजेपी का ये हमला दर्शाता है कि आप पार्टी को दिल्ली में 7 में से 7 सीटें मिलेंगी.

बीजेपी प्रवक्ता सैय्यद जफर इस्लाम ने कहा, ‘हमारी पार्टी का कोई भी कार्यकर्ता या नेता इस तरह की चीजों से दूर रहता है, लेकिन प्रदेश की जनता त्राहि-त्राहि कर रही है, क्योंकि केजरीवाल ने जितने वायदे किए गए थे वो पूरे नहीं किए. आगे उन्होंने कहा कि केजरीवाल खुद को थप्पड़ मरवाकर लोगों की सहानुभूति पाना चाहते हैं, लेकिन तब 2013-2014 का जमाना अलग था, लेकिन अगर शायद फिर से सहानुभूति पाने के लिए ये किए हो तो जनता सीधे-सीधे समझ जाएगी.’

कांग्रेस प्रवक्ता अखिलेश प्रताप सिंह ने कहा, ‘लोकतंत्र में विचारधार पर असमत हो सकते हैं लेकिन किसी पर हाथ नहीं चला सकते हैं. मतदान का अधिकार मिला है उन्हें, जो फैसला लेना है उससे लें, किसी पर हाथ उठा देना या बदतमीजी करना ये नहीं हो सकता है.’

एसपी प्रवक्ता अब्दुल हाफिज गांधी ने कहा, ‘लोगों में गुस्सा होता है लेकिन गुस्सा जाहिर करने का एक संवैधानिक तरीका है. वोट दीजिए वहां नोटा का विकल्प भी होता है, उस बटन को दबाकर आइए. साथ ही कहा, राजनीति में या संवैधानिक राजनीति में हिंसा की कतई जगह नहीं हो सकती है. गुस्सा जाहिर करने के बहुत सारे तरीके है. प्रोटेस्ट कीजिए, कही नेता मिले तो उससे सवाल कीजिए, नेता से उत्तर मांगे, थप्पड़ मारने तक के हद तक नहीं जा सकते हैं.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here