23 मई के बाद हर किसान के खाते में पैसे आएंगे, लेकिन तारीख नहीं बताएँगे ,मछुआरों के लिए होगा मंत्रालय:

0
8

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को ओडिशा के संबलपुर में चुनावी सभा को संबोधित किया. यहां प्रधानमंत्री के निशाने पर कांग्रेस पार्टी रही, साथ ही उन्होंने दिल्ली में एक बार फिर उनकी सरकार बनने का दावा किया. प्रधानमंत्री ने रैली में कहा कि पहले चरण की वोटिंग के बाद ओडिशा से जो संकेत आए हैं उससे साफ़ है कि दिल्ली में फिर एक बार मोदी सरकार और ओडिशा में भाजपा सरकार बनने जा रही है.

उन्होंने कहा कि हमारे देश में सरकार के पास पैसे की कमी नहीं है. कमी रही है तो उस पैसे के सही इस्तेमाल की, पहले की सरकारों ने कभी इस पर ध्यान नहीं दिया कि जितने पैसे भेजे जा रहे हैं, वो आप तक पूरे पहुंचे ही नहीं.

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि आजादी के इतने सालों तक ये भ्रष्टाचार चल रहा था लेकिन इसे कोई रोकने वाला नहीं था, अब आपके इस चौकीदार की सरकार ने ये व्यवस्था बनाई है कि सरकार अगर 100 पैसे भेजे, तो पूरे 100 पैसे देश के गरीबों पर खर्च होंView image on Twitter

The central govt procure rice at Rs 19-30/kg and send it to Odisha. Odisha govt have to add only Rs 2/kg to it. However, they claim that they provide rice at subsidised rate to the people of Odisha. It’s an utter lie: PM Modi

घोटाला करती रहीं पिछली सरकारें

उन्होंने कहा कि आपने दिल्ली में एक मजबूर और भ्रष्ट सरकार भी देखी है, ये वो सरकार थी जो आपको मिलने वाली चीनी में घोटाला कर जाती थी. जो आपको मिलने वाले राशन में घोटाला कर जाती थी, जो किसानों को मिलने वाले यूरिया में घोटाला कर जाती थी.

PM मोदी ने किसान सम्मान योजना को अपनी सरकार की बड़ी उपलब्धि बताया, साथ ही उन्होंने कहा कि अभी तक इस पर 2 हेक्टेयर तक की लिमिट थी लेकिन अब इसे हटाकर हर किसान को पैसा दिया जाएगा.

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार आने के बाद हर किसान के खाते में पैसे जाएंगे और कोई हाथ पंजा नहीं डाल पाएगा. हम इस बार मछुआरों की तरक्की के लिए अलग से मंत्रालय बनाएंगे. साथ ही उन्होंने कहा कि इस बार वह पानी के सही इस्तेमाल के लिए अलग से जल शक्ति मंत्रालय भी बनाएंगे.

पीएम के निशाने पर कांग्रेस के अलावा राज्य की बीजद सरकार भी रही, उन्होंने कहा कि केंद्र की तरफ से ओडिशा की मदद के लिए करोड़ों रुपये भेजे गए, लेकिन राज्य सरकार उनका सही इस्तेमाल नहीं कर रही है. उन्होंने कहा कि जो चावल चौकीदार की सरकार भेजती है, वह बीजद सरकार अपना बताकर लोगों को देती है.

आपको बता दें कि इस बार भारतीय जनता पार्टी की नज़र ओडिशा पर है, यहां की 21 लोकसभा सीटों पर भाजपा ज्यादा से ज्यादा सीटें जीतना चाहती है. बीजेपी इस बार ओडिशा में विधानसभा चुनाव जीतने पर भी जोर लगा रही है. ओडिशा की 21 लोकसभा सीटों में चार चरणों में मतदान हो रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here