पलवल/मथुरा। यूपी के मथुरा में बरसाना-छाता रोड पर बृहस्पतिवार को सड़क किनारे एक जली हुई ईको कार मिली और उसमें जलने के बाद लगभग कंकाल हो चुके दो शव बरामद हुए। पुलिस को छानबीन में पता चला कि कार हरियाणा में पलवल के गांव मिलकोड़ा की थी और कार के मालिक व उसके एक अन्य साथी के अपहरण का मुकदमा भी वहां दर्ज है। वहीं, इसी के साथ दूसरी समस्या खड़ी हो गई। मिलकोड़ा से कुल चार लोग गायब हैं और शवों की शिनाख्त न हो पाने से यह पता नहीं चल पा रहा कि मरने वाले कौन हैं? दो अन्य कहां गए? अपहृत कौन हैं और अपहरणकर्ता कौन? हरियाणा पुलिस भी इस गुत्थी को सुलझाने के लिए मथुरा पहुंच गई है।

बरसाना से करीब दो किलोमीटर दूर श्रीनगर गांव के पास बृहस्पतिवार सुबह सड़क किनारे जली हुई ईको कार मिली। एक शव कार के बाहर पिछली खिड़की के पास पड़ा था, जबकि दूसरा ड्राइविंग सीट पर। घटनास्थल के हालात साफ जाहिर कर रहे थे कि दोनों की हत्या की गई है। कार के जलने की घटना रात की बताई जा रही है। हालांकि इसका कोई चश्मदीद नहीं निकला। सुबह करीब सात बजे ग्रामीणों ने पुलिस को जानकारी दी।

बरसाना पुलिस को तलाशी में कार से एक अधजला पर्स मिला जिसमें एक फोटो भी है। कार के चेसिस नंबर के आधार पर तफ्तीश करते हुए पुलिस को हरियाणा के पलवल से इनपुट मिला। हथीन थाना क्षेत्र के गांव मिलकोड़ा निवासी रोहताश, लालाराम, कुंवरपाल और लेखन गायब हैं। इनमें लालाराम और रोहताश के कार समेत अपहरण की रिपोर्ट भी लिखाई गई है।

दोपहर में हरियाणा पुलिस के साथ लालाराम के परिजन भी बरसाना थाने आ गए, लेकिन वे बुरी तरह से जल चुके शवों की पहचान नहीं कर सके। उन्होंने पर्स में मिले फोटो की पहचान लेखन के रूप में की।

एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज ने बताया कि जली हुई गाड़ी लालाराम की है। लालाराम और रोहताश बुधवार की शाम गांव मिलकोड़ा से पलवल के लिए निकले थे। वे घर से डेढ़ लाख रुपये लेकर चले और कुछ बाजार से भी लिए। उन्हें कोसीकलां किसी काम से आना था।

तीसरा व्यक्ति कुंवरपाल गांव के बाहर ढाबे से उनके साथ सवार हुआ। चौथा व्यक्ति लेखन इनके साथ था या नहीं, यह अभी साफ नहीं हो सका है। अपहरण किसने किया, मृतक कौन हैं, यह सब सामने लाने को पुलिस जांच में जुटी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here