दिल्ली की किस सीट से चुनाव लड़ेंगे गौतम गंभीर, ये हैं 3 विकल्प

0
7

नई दिल्ली। पूर्व भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर के शुक्रवार को भाजपा में शामिल होने के साथ ही उनके लोकसभा चुनाव लड़ने की चर्चाएं भी तेज हो गईं हैं। गंभीर का निवास राजेंद्र नगर में है, जोकि नई दिल्ली संसदीय क्षेत्र में पड़ता है। ऐसे में माना जा रहा है कि उन्हें यहां से चुनाव मैदान में उतारा जाएगा। इस सीट का प्रतिनिधित्व मीनाक्षी लेखी करती हैं। वहीं, पश्चिमी दिल्ली संसदीय क्षेत्र में पंजाबी मतदाताओं की अच्छी तादाद को देखते हुए उन्हें इस सीट से भी चुनाव लड़ाया जा सकता है। वहीं दक्षिणी दिल्ली संसदीय क्षेत्र से भी उनकी उम्मीदवारी की चर्चा है। वहीं, यह भी हैरानी की बात है कि प्रदेश चुनाव समिति ने गंभीर का नाम तो नहीं भेजा है, लेकिन कहा जा रहा है कि वे नई दिल्ली या दक्षिण दिल्ली से चुनाव मैदान में उतर सकते हैं। अंतिम निर्णय केंद्रीय चुनाव समिति को लेना है।

यहां पर बता दें कि गौतम गंभीर सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय हैं। आम आदमी पार्टी और कांग्रेस की नीतियों के खिलाफ अपने ट्वीट को लेकर वह खासे चर्चित रहे हैं। सर्दी के दिनों में दिल्ली में प्रदूषण की समस्या को लेकर अर¨वद केजरीवाल के खिलाफ उनका ट्वीट आने के बाद से ही उनके भाजपा में शामिल होने की चर्चा तेज हो गई थी। हालांकि, उस समय उन्होंने सक्रिय राजनीति में आने की खबरों को नकार दिया था।

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर प्रदेश भाजपा कार्यालय में चुनाव समिति की बैठक की अध्यक्षता करतीं दिल्ली की चुनाव प्रभारी निर्मला सीतारमण दिल्ली प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी व अन्य भाजपा नेता ’ जागरण

इन नामों पर हुई चर्चा

  • नई दिल्ली-मीनाक्षी लेखी, श्याम जाजू, राजेश भाटिया
  • चांदनी चौक-डॉ हर्षवर्धन, विजेंद्र गुप्ता, सुधांशु मित्तल, र¨वद्र गुप्ता
  • दक्षिणी दिल्ली-रमेश बिधूड़ी, रामबीर सिंह बिधूड़ी, ब्रह्म सिंह तंवर
  • पश्चिमी दिल्ली- प्रवेश वर्मा, पवन शर्मा, कमलजीत सहरावत
  • उत्तर पश्चिमी- डॉ. उदित राज, दुष्यंत गौतम, अशोक प्रधान, अनिता आर्य
  • पूर्वी दिल्ली- महेश गिरी, ओपी शर्मा, कुलजीत चहल, अमन सिन्हा
  • उत्तर पूर्वी दिल्ली-मनोज तिवारी, मोहन सिंह बिष्ट, सत्या शर्मा

गंभीर का भाजपा में जाना कोई आश्चर्य की बात नहीं: सौरभ भारद्वाज

आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि क्रिकेटर गौतम गंभीर का भाजपा में जाना कोई आश्चर्य की बात नहीं है। पिछले तीन-चार माह से वह सोशल मीडिया पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अर¨वद केजरीवाल और दिल्ली सरकार के खिलाफ बयान दे रहे थे। इससे लग रहा था कि वह जल्द ही भाजपा में शामिल होने वाले हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here