अमेरिका: यहूदी प्रार्थनास्थल पर गोलीबारी, एक महिला की मौत, 3 जख्मी

0
7

वॉशिंगटन. अमेरिका के कैलिफोर्निया में शनिवार को एक बंदूकधारी ने यहूदी प्रार्थनास्थल पर गोलीबारी की। घटना में एक बुजुर्ग महिला की मौत हो गई, जबकि तीन जख्मी हैं। पुलिस ने 19 वर्षीय हमलावर को गिरफ्तार कर लिया है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने घटना पर संवेदना व्यक्त की। उन्होंने कहा कि हमें यहूदी विरोधी विचारधारा को हराना चाहिए। पूरा अमेरिका पीड़ित यहूदी समुदाय के साथ खड़ा है।

छह महीने पहले भी एक हमलावर ने पीटसबर्ग के ट्री ऑफ लाइफ प्रार्थनास्थल पर 11 लोगों की हत्या कर दी थी। अमेरिका में यहूदी समुदाय पर यह सबसे बड़ा हमला था।

सैन डिएगो काउंटी के शेरिफ बिल गोर के मुताबिक, गोलीबारी के दौरान चार लोग जख्मी हुए थे। जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां घायल महिला ने दम तोड़ दिया और बाकी तीन की हालत स्थिर है। इनमें एक बच्ची, यहूदी धर्मगुरु और एक युवक शामिल हैं। हमलावर की सोशल मीडिया अकाउंट से जानकारियां जुटाई जा रही हैं। उसने हमले से आधा घंटा पहले एक लेटर भी पोस्ट किया था।

हमलावर ने एआर-15 राइफल से फायरिंग की

शेरिफ ने कहा कि घटना के बाद ड्यूटी से लौट रहे एक अफसर ने हमलावर पर फायर किया। इस दौरान भागने की कोशिश में वह कार में फंस गया। इसके बाद पुलिस ने हमलावर को गिरफ्तार कर लिया। उसके पास एक एआर-15 राइफल मिली, जिससे उसने लोगों पर गोलियां चलाईं। इसी हथियार का इस्तेमाल अमेरिका में पहले हुई शूटिंग की वारदातों में हो चुका है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हमलावर बुलेटप्रूफ जैकेट और हेलमेट पहने हुए था।

राष्ट्रपति ट्रम्प ने पुलिस को सराहा 

डोनाल्ड ट्रंप ने घटना पर गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए मुश्तैदी के लिए पुलिस की सराहना की। पॉवे के मेयर स्टीव वॉस ने कहा कि यह हेट क्राइम की घटना थी। यहूदी समुदाय सबको साथ लेकर चलता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here