16 C
Kanpur,in
Thursday, December 12, 2019

नरक चतुर्दशी का महत्व,दिवाली पर माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए करें केवल ये दो काम

0
26

शनिवार 26 अक्तूबर 2019 को मनाई जाएगी नरक चतुर्दशी

नरक चतुर्दशी के दिन होती है इन 6 देवी देवताओं की पूजा,

आचार्य पं. श्रीकान्त पटैरिया (ज्योतिष विशेषज्ञ)
सम्पर्क: 9131366453

दिपावली के पांच दिनी उत्सव में नरक चतुर्दशी धन तेरस के बाद मनाई जाती है। इसे रूप चौदस भी कहते हैं। मान्यता के अनुसार इस दिन सूर्योदय से पहले उठकर उबटन, तेल आदि लगाकर स्नान करना चाहिए एवं शाम के समय यम का दीपक लगाना चाहिए। नरक चौदस के दिन 6 देवों की पूजा की जाती है।

1. नरक चतुर्दशी :
इसी दिन भगवान श्रीकृष्ण ने नरकासुर का वध किया था इसलिए इसे नरक चतुर्दशी कहते हैं। अत: इस दिन भगवान श्रीकृष्ण की पूजा उनकी पत्नी सत्यभामा के साथ की जाती है।

2.शिव चतुर्दशी : यह दिन भगवान शिव का दिन भी होता है इसलिए इसे शिव चतुर्दशी भी कहते हैं। इस दिन शिवजी की पूजा भी की जाती है।

3.वामन पूजा : इस दिन भगवान वामन ने राजा बलि को पाताल लोक का राजा बनाकर चिरंजीवी होने के वरदान के साथ ही यह वरदान भी दिया था कि तेरा राज्य में जो यम को दीपदान देगा उसके पितर कभी नरक में नहीं होंगे।

4.यम पूजा : इस दिन को यम के नाम से भी जानते हैं। इसीलिए इस दिन शाम होने के बाद घर में और उसके चारों ओर दिए जलाए जाते है और यमराज से आकाल मृत्यु से मुक्ति और स्वस्थ्य जीवन की कामना करते हैं।

5.हनुमान जयंती : कुछ विद्वानों अनुसार इस दिन हनुमानजी का जन्म हुआ था इसलिए इस दिन हनुमान जनमोत्स्व भी मनाया जाता है। हनुमाजी की पूजा भी की जाती है।

6.काली चौदस : बंगाल में मां काली के जन्मदिन के रूप में भी मनाया जाता है, जिसके कारण इस दिन को काली चौदस कहा जाता है। इस दिन मां काली की आराधना का विशेष महत्व होता है।

यदि आप अपनी किसी समस्या के लिए आचार्य पं. श्रीकान्त पटैरिया (ज्योतिष विशेषज्ञ) नि:शुल्क ज्योतिषीय सलाह चाहें तो वाट्सएप नम्बर 9131366453 पर सम्पर्क कर सकते हैं

Diwali Lakshmi Puja इस दिवाली आप माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए दो काम जरूर करें। इससे माता प्रसन्न होंगी और आपको धन की कमी नहीं रहेगी।

Diwali Lakshmi Puja: दिवाली का त्योहार रविवार 27 अक्टूबर को मनाया जाएगा। इस दिन कार्तिक मास की अमावस्या तिथि को माता लक्ष्मी की विशेष पूजा की जाती है। उससे प्रसन्न होकर माता लक्ष्मी भक्तों पर अपनी कृपा बनाए रखती हैं, द​रिद्रता दूर होती है, धन, दौलत, वैभव, समृद्धि प्रदान करती हैं। दिवाली के दिन हर व्यक्ति माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए यथासंभव प्रयास करता है। इस दिवाली आप माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए दो काम जरूर करें। इससे माता प्रसन्न होंगी और आपको धन की कमी नहीं रहेगी।

दिवाली को बन रहा पद्म योग, सफेद कमल अर्पित करें

ज्योतिषाचार्य चक्रपाणि भट्ट बताते हैं कि इस बार दिवाली के दिन पद्म योग बन रहा है। पद्म योग में यदि माता लक्ष्मी को सफेद कमल के 16 पुष्प अर्पित किए जाएं, तो माता जरूर प्रसन्न होंगी और भक्तों को स्थिर धन की प्राप्ति होगी। माता लक्ष्मी का नाम चंचला है, वह चंचल हैं। वह किसी के पास स्थिर नहीं रहती हैं, इसलिए स्थिर लक्ष्मी की प्राप्ति के लिए यह उपाय श्रेष्ठ है।

माता लक्ष्मी को सफेद कमल अर्पित करने का मंत्र

“अमल कमल संस्था, तद्रज: पुंज वर्णां, कर श्वेत कमल धृतेष्टा, भीति युग्माम्बुजा च।

मणिमुकुट विचित्र अलंकृत कल्पजालै, भवतु भुवनमाता सन्ततं श्री: श्रियै नम:।।”

या

“या सा पद्मासनस्था विपुलकटितटी पद्मपत्रायताक्षी गंभीरावर्तनाभि: स्तनभर नमिता शुभ्रवस्त्रोत्तरीया।

लक्ष्मीर्दिव्यैर्गजेन्द्रै: मणिगण खीचतै:,स्नापिता हेमकुम्भै नित्यं सा पद्महस्ता मम वसतु गृहं सर्वमांगल्ययुक्ता।।”

लक्ष्मी पूजा का शुभ मुहूर्त

दिवाली को लक्ष्मी पूजा का शुभ मुहूर्त रविवार शाम को 6 बजकर 45 मिनट से रात 8 बजकर 41 मिनट तक है। इस दिन शुभ मुहूर्त में पूजा के समय माता लक्ष्मी को शमी का पत्ता और केसरिया रंग को कोई फूल अवश्य अर्पित करें। ये दोनों ही चीजें माता लक्ष्मी को प्रिय हैं।

श्री लक्ष्मी महामंत्र

“ॐ श्रीं ल्कीं महालक्ष्मी महालक्ष्मी एह्येहि सर्व सौभाग्यं देहि मे स्वाहा।।”

श्री लक्ष्मी बीज मन्त्र

“ॐ श्रींह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं ॐ महालक्ष्मी नम:।।”

दिवाली पूजा के ​समय यदि आप श्री लक्ष्मी महामंत्र का जाप करेंगे तो आपको धन, दौलत और वैभव में स्थिरता प्राप्त होगी। दिवाली पूजा पर श्री लक्ष्मी बीज मन्त्र का जाप करने से आपका भाग्योदय होगा।

माता लक्ष्मी की पूजा से प्रसन्न होंगे भगवान विष्णु

माता लक्ष्मी भगवान विष्णु की अर्धांगिनी हैं, उनकी पूजा करने से भगवान विष्णु भी प्रसन्न होते हैं, जिससे उनकी भी कृपा आपको प्राप्त होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here