शीना बोरा हत्याकांड: चश्मदीद ने दी जानकारी-हत्या के दिन संजीव खन्ना मुंबई में मौजूद थे

0
7

अभियोजन पक्ष ने शुक्रवार को खन्ना के दोस्त बलविंदर दामी के ड्राइवर इम्तियाज शेख से विशेष न्यायाधीश जे सी जगदाले की अदालत में जिरह की.

मुंबई: बहुचर्चित शीना बोरा हत्याकांड मामले में इंद्राणी मुखर्जी के पूर्व पति संजीव खन्ना के दोस्त के लिए काम करने वाले एक ड्राइवर इम्तियाज शेख ने सीबीआई की एक विशेष अदालत को बताया कि शीना की हत्या जिस दिन हुई थी, उस दिन उसने ही संजीव खन्ना को दक्षिणी मुंबई के एक होटल में छोड़ा था.

हत्या के सह-अभियुक्त
संजीव खन्ना इस मामले में शीना की मां इंद्राणी मुखर्जी और मीडिया दिग्गज पीटर मुखर्जी के साथ सह-अभियुक्त हैं. संजीव खन्ना इंद्राणी मुखर्जी के पूर्व पति हैं. अभियोजन पक्ष ने शुक्रवार को खन्ना के दोस्त बलविंदर दामी के चालक इम्तियाज शेख से विशेष न्यायाधीश जे सी जगदाले की अदालत में जिरह की. आपको याद दिला दें कि शीना की हत्या 24 अप्रैल, 2012 को हुई थी और इस मामले में शीना की मां इंद्राणी मुखर्जी उसके पूर्व पति संजीव खन्ना मुख्य हत्यारोपियों में से हैं. खन्ना के बयान की पुष्टि इस संबंध में की जा रही थी कि शीना की हत्या के दिन खन्ना मुंबई में मौजूद थे या नही. शीना बोरा हत्याकांड में शीना की मां इंद्राणी मुखर्जी और सौतेले पिता पीटर मुखर्जी पर हत्या और हत्या की साज़िश के आरोप सीबीआई ने पहले ही तय कर दिए थे. इसके अलावा, इंद्राणी के पूर्व पति संजीव खन्ना के खिलाफ भी विशेष सीबीआई कोर्ट में आरोप तय हुए थे. इस मामले में शामिल एक और आरोपी इंद्राणी का ड्राइवर श्यामवर राय पहले ही सीबीआई के लिए सरकारी गवाह बन गया था.

गौरतलब है कि इंद्राणी मुखर्जी पर आरोप है कि उन्होंने अपने पूर्व पति और ड्राइवर के साथ मिलकर मुंबई के बाहर एक कार में अपनी 24 साल की बेटी शीना की गला घोंटकर हत्या की थी. शीना बोरा का अधजला शव 2015 में मुंबई के पास जंगलों में पड़ा मिला था. उसी साल अगस्त महीने में शीना बोरा की हत्या के आरोप में इंद्राणी को गिरफ्तार कर लिया गया था. हालांकि इंद्राणी और पीटर के वकीलों ने सीबीआई के लगाए आरोपों को बेबुनियाद बताया था लेकिन जैसे जैसे जांच आगे बढ़ी मामला खुलता गया. शीना की हत्या 24 अप्रैल, 2012 को हुई थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here