कन्नौज में ट्रक से टक्कर के बाद बस में लगी भीषण आग, 20 लोगों की मौत, पीएम मोदी ने जताया दुख

0
20

उत्तर प्रदेश के कन्नौज में शुक्रवार रात भीषण सड़क हादसा हो गया। यहां के जीटी रोड हाइवे पर डबल डेकर बस और ट्रक में टक्कर हो गई, जिसके बाद बस में भीषण आग लग गई। इस हादसे में अब तक 20 लोगों की मौत हो गई जबकि 21 लोगों के घायल होने की खबर है। घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

यह हादसा तब हुआ जब बस कन्नौज के गुरसहायगंज से जयपुर जा रही थी। इस हादसे के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस घटना का त्वरित संज्ञान लेते हुए कहा कि घायलों की हरसंभव मदद की जा रही है। मुख्यमंत्री ने आला अधिकारियों को मौके पर पहुंचने के निर्देश दिए हैं। साथ ही, कन्नौज के जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक को तत्काल घटनास्थल पर पहुंचने और यात्रियों को बेहतर चिकित्सा सुविधा मुहैया कराने के निर्देश दिए। सीएम योगी ने घायलों को 50 हजार और मृतकों के परिजनों को दो लाख रुपये मुआवजा देने का ऐलान किया है।

पीएम मोदी ने हादसे पर जताया दुख

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर हादसे पर दुख जताया है। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि मृतकों के परिजनों के प्रति अपनी संवेदनाएं प्रकट करता हूं, साथ ही घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

वहीं राहुल गांधी ने कहा कि कन्नौज हादसे में 20 लोगों की मौत और अनेक लोगों के घायल होने की खबर से आहत हूं। मृतकों के परिवार के प्रति मैं अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं और घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

हादसे के दौरान बस में सवार थे 43 लोग

कन्नौज के जिलाधिकारी रविंद्र कुमार ने कहा कि बस में करीब 43 लोग सवार थे। हादसे में 21 लोग घायल हुए हैं, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। आग पर काबू पा लिया गया है। उन्होंने बताया कि बचाव कार्य जारी है। जिलाधिकारी ने कहा कि बस फर्रुखाबाद की थी। 26 यात्री गुरसहायगंज और 17 यात्री छिबरामऊ से सवार हुए थे।

ट्रक का डीजल टैंक फटने से आग का गोला बनी बस

बताया जा रहा है कि यह घटना शुक्रवार रात 9.30 बजे घटी। हादसे के बाद ट्रक में भी आग लग गई। मिली जानकारी के मुताबिक, बस में आग लगने के बाद यात्री भागने में असमर्थ थे। बस में सवार कुछ यात्री बालाजी दर्शन करने तो कुछ रोजगार की तलाश में जयपुर जा रहे थे।

जीटी रोड पर घिलोई खास गांव के पास कोहरे की वजह से हादसा

बताया जा रहा है कि गुरसहायगंज से बस अभी 26 किलो मीटर ही चल पाई थी कि छिबरामऊ से पांच किलो मीटर आगे जीटी रोड पर ग्राम घिलोई के पास कोहरे की वजह से यह भयानक हादसा हो गया। भिड़ंत के बाद पहले ट्रक का डीजल टैंक फटने से आग लग गई, जिसने बस को भी चपेट में ले लिया। थोड़ी ही देर में बस आग का गोला बन गई। हादसा इतना भयानक था कि स्लीपर बस में फंसे यात्रियों को निकलने तक का मौका नहीं मिल सका। किसी तरह लगभग एक दर्जन सवारियों ने कूदकर अपनी जान बचाई।

वाहनों की लंबी कतार लगी

हादसे के बाद जीटी रोड पर यातायात पूरी तरह बाधित हो गया। वाहनों की लंबी कतारें लग गई। फायर बिग्रेड की कई गाड़ियां आग बुझाने के प्रयास में जुटी। कानपुर से एडीजी और कमिश्नर भी घटनास्थल पर पहुंचे। मौके पर भारी भीड़ जुट गई। मंडलायुक्त सुधीर एम बोबडे ने बताया कि घटना कैसे हुई इसकी जांच होगी। जो दोषी हैं, उन पर कार्रवाई होगी।

परिवहन मंत्री ने घटना पर जताया दुख

परिवहन मंत्री अशोक कटारिया ने कन्नौज बस हादसे की जांच कानपुर के डिप्टी ट्रांसपोर्ट कमिश्नर (डीटीसी) व संभागीय परिवहन अधिकारी (आरटीओ) को सौंपी है। उन्होंने दोनों अधिकारियों को तत्काल मौके पर पहुंचकर हर पहलू की जांच कर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए। परिवहन मंत्री ने इस बस दुर्घटना पर दुख जताया है। उन्होंने कहा कि यह घटना अत्यंत दुखद व कष्टकारी है। हमारी संवेदना पीड़ित परिवारीजनों के साथ हैं।

उन्होंने घायलों को तत्काल अस्पताल पहुंचाने के निर्देश अफसरों को दिए। उन्होंने बताया कि एक्सीडेंट के कारणों का पता लगाया जा रहा है। वहीं, उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक राजशेखर ने इस घटना के बाद कन्नौज के जिलाधिकारी से बात कर प्रारंभिक जानकारी ली।

2018 में भी इसी ट्रैवल्स की बस में 17 की हुई थी मौत

2018 में 13 जून को दिल्ली से फर्रुखाबाद लौटते हुए इसी ट्रैवल्स की एक बस का इटावा में हादसा हुआ था। तब बस, डिवाइडर से टकरा गई थी। इसमें मौके पर ही 17 लोगों की मौत हो गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here