40 C
Kanpur,in
Monday, May 20, 2019

वाराणसी में कर्ज में डूबे पिता ने अपनी तीन बेटियों के साथ जहर खाकर दे दी जान

8
0
नई सड़क स्थित गीता मंदिर के पास गुरुवार सुबह उस समय सनसनी फैल गई जब एक ही परिवार के चार लोगों की संदिग्‍ध हालत में मौत हो गई।

वाराणसी, नई सड़क स्थित गीता मंदिर के पास गुरुवार सुबह उस समय सनसनी फैल गई जब एक ही परिवार के चार लोगों की जहर खाने से इलाज के दौरान मौत हो गई। परिजनों के मुताबिक लड्डू नामक व्यक्ति और उसकी तीन पुत्रियों की मौत जहर खाने से हुई है। बताया गया कि कर्ज में डूबे पिता ने अपनी तीन बेटियों समेत खुद भी जहर खाकर जान दे दी। सूचना मिलने के बाद मौके पर लोगों की भारी भीड़ लग गई।

पुलिस के मुताबिक दीपक गुप्ता (30) और उसकी पुत्रियां निबिया (9), अद्वितीय (7) और रिया(5) की मौत जहर खाने ही संभवत: हुई है। दीपक उर्फ लड्डू ठेले पर रेडीमेड कपड़ा बेचता था, दीपक अपनी पत्नी अनीता को एक दिन पूर्व ही मायके छोड़कर आया था। देर रात ही उसने अपनी तीनों बच्चियों को जहर खिलाने के बाद खुद भी जहर खाकर जान दे दी। सुबह लोगों को जानकारी हुई तो पुलिस को सूचना दी गई जिसके बाद पुलिस ने शवों को पोस्‍टमार्टम के लिए भेज दिया है। स्‍थानीय लोगों के अनुसार आइपीएल मैचों में सट्टा लगाने के दौरान उसपर कर्ज का भारी बोझ बढ़ गया था। कर्ज की वजह से तगादा करने वालों की डिमांड बढती जा रही थी। इसलिए उसने ऐसा दुस्‍साहसिक कदम उठा लिया। पडोसियों के अनुसार पत्नी मायके गई हुई है। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस आत्‍महत्‍या की गुत्‍थी की कडियां जोडने में जुट गई है।

हादसे के बाद मृतक दीपक गुप्ता की भतीजी साक्षी ने बताया कि कल रात चाचा जी की तीन बेटियां बाहर आंगन में सोए हुए थे। चाचा जी आये और उन्हें कमरे में उठाकर ले गए। उसके बाद वो दादी के कमरे में टीवी देखने लगे। कुछ देर बाद छोटी वाली बेटी रीमा आयी और दादी से बोली की पापा ने हमें कुछ पिला दिया है। इस पर दादी कमरे में गयीं और तीनों बच्चों को और चाचा को उठाकर अपने साथ लेकर बाहर आयी। चाचा जी टॉयलेट चले गए और बच्चियों को उल्‍टी शुरू हो गयी। तुरंत तीनों बच्चियों को लोग कबीरचौरा लेकर भागे। इधर चाचा भी टायलेट से निकलकर बेसुध होकर जमीन पर गिर गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here