ब्रिटिश सरकार ने विजय माल्या के प्रत्यर्पण को दी मंजूरी

0
7

भारत प्रत्यर्पित करने के आदेश को ब्रिटेन के हाईकोर्ट में चुनौती देंगे माल्या. अपील की इजाजत हासिल करने के लिए 4 फरवरी से 14 दिनों का समय.

नई दिल्ली ः बैंकों से 9,000 करोड़ रुपये से अधिक की धोखाधड़ी करने के बाद से लंदन में रह रहे शराब कारोबारी विजय माल्या के भारत प्रत्यर्पण को ब्रिटेन सरकार ने मंजूरी दे दी है. हालांकि, इस बीच माल्या ने इस प्रक्रिया के खिलाफ अपील करने का फैसला किया है.

ब्रिटेन के गृहमंत्री साजिद जाविद ने माल्या को भारत प्रत्यर्पित करने का आदेश दिया है, जिसके बाद विजय माल्या की यह प्रतिक्रिया आई है.

माल्या के पास ब्रिटेन के हाईकोर्ट में अपील की इजाजत हासिल करने के लिए 4 फरवरी से 14 दिनों का समय है. माल्या ने ट्वीट में कहा कि वह अपने प्रत्यर्पण के आदेश के खिलाफ अपील की प्रक्रिया शुरू करेगा.

ब्रिटेन में पाकिस्तानी मूल के वरिष्ठतम मंत्री जाविद के कार्यालय ने सोमवार को इस बात की पुष्टि की कि सारे मामलों पर विचार करने के बाद मंत्री ने रविवार को माल्या के प्रत्यर्पण आदेश पर दस्तखत कर दिए.

गृह कार्यालय के एक प्रवक्ता ने बताया, ‘सभी प्रासंगिक मामलों पर विचार करने के बाद 3 फरवरी को मंत्री ने विजय माल्या को भारत प्रत्यर्पित करने के आदेश पर दस्तखत कर दिए.’

उन्होंने कहा, ‘विजय माल्या पर भारत में धोखाधड़ी की साजिश रचने, गलत जानकारी देने और मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप हैं.’

इस बीच केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने ट्वीट कर कहा कि शारदा के घोटालेबाजों के समर्थन में विपक्ष की रैली के बीच मोदी सरकार माल्या को भारत लाने में एक कदम और आगे बढ़ी.

माल्या पर भारतीय बैंकों के करोड़ों रुपये बक़ाया हैं और वह साल 2016 से ब्रिटेन में रह रहा है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here